Charles And Amaira
Frienship Story - Inspirational Story - sad stories - Stories - Thriller Story

Charles And Amaira – 3

उसे आवाज लगाई चार्ल्स प्लीज उठो, प्लीज अपनी आंखें खोलो लेकिन वह नहीं उठा। आसपास के लोग भी चार्ल्स को देखकर भाग कर हमारे पास आए। उन्होंने मेरी मदद की और हम चार्ल्स को अस्पताल ले गए।
 
 
मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था क्या करूं आज चार्ल्स जिंदगी और मौत से लड़ रहा था। और मैं कुछ नहीं कर पा रही थी। मुझे चार्ल्स की मॉम की हालत देखी नहीं जा रही थी। चार्ल्स के बारे में जब से पता चला है वह शौक में चली गई है। ना कुछ बोल रही है ना ही रिएक्ट कर रही है। मैंने कभी नहीं सोचा था लाइफ में ऐसा दिन देखना पड़ेगा। चार्ल्स किसी और का हो जाए यह तो मैं बर्दाश्त कर सकती हूं लेकिन उसके बिना पूरी जिंदगी कैसे बिताऊंगी। नहीं मुझे कुछ करना होगा। चार्ल्स ऐसे मुझे छोड़कर नहीं जा सकता। उसे ठीक होना ही होगा मेरे लिए। हम बचपन से एक साथ हैं। जब से वह मेरी लाइफ में आया है मेने आज तक अपनी कोई खुशी कोई गम उसके बिना बिताया नहीं है। मैं उसके बिना नहीं रह पाऊंगी। उसे मेरे लिए वापस आना ही होगा।
 
 
4 घंटे हो गए डॉक्टर को चार्ल्स को ऑपरेशन थिएटर में ले गए हुए लेकिन अब तक कुछ पता नहीं चला। चार्ल्स ठीक है या नहीं हमें इस बात का अंदाजा भी नहीं था। मैं बार-बार ऑपरेशन थिएटर की तरफ देख रही थी। तभी वहां पर मेरे मम्मी पापा भी आ गए। उन्हें देखकर मैं भाग कर अपने पापा को गले लगा लिया। पापा देखो ना चार्ल्स को क्या हो गया। मेरी आंखों के सामने उस आदमी ने चार्ल्स को गोली मार दी और मैं कुछ नहीं कर पाई। वह ठीक तो हो जाएगा ना?? मैं उसके बिना नहीं रह सकती। प्लीज पापा आप कुछ करिए ना। मुझे ऐसा देखकर पापा ने मुझे समझाया बेटा देखो ऐसे हिम्मत मत हारो। कुछ नहीं होगा हमारे चार्ल्स को। देखना ठीक हो जाएगा वह। देखो बेटा अगर तुम इस तरह टूट जाओगी तो चार्ल्स की मॉम को संभालेगा कौन?? देखो क्या हाल हो रहा है बेचारी का। मेरी अमायरा बहुत स्ट्रॉन्ग है ना ?? तो प्लीज अपने आप को संभालो जाओ बेटा चार्ल्स की मॉम के पास। देखा क्या हाल है उनका प्लीज जाकर उनसे बात करो। अगर तुम उन्हें नहीं संभालोगी तो कौन संभालेगा??
 
 
उनकी बात सुनकर मुझे बुरा लगा और अपने आप पर गुस्सा भी आया। मैं अपने गम में इतना डूब गई कि मुझे आंटी की हालत नहीं देखी। चार्ल्स मेरा दोस्त है लेकिन उनका तो वह बेटा है अगर मेरा यह हाल है तो उन पर क्या बीत रही होगी?? यही सोचकर मैं उनके पास गई। मैं उनके पास जाकर उनके कंधों पर हाथ रखा और कहां आंटी आप प्लीज चिंता मत कीजिए हमारे चार्ल्स को कुछ नहीं होगा। देखना अभी थोड़ी देर में डॉक्टर बाहर आकर बताएंगे वह ठीक है। आप प्लीज अपने आप को संभाले। मेरी बात सुनकर वह मेरी तरफ देखकर बोलती है चार्ल्स हमेशा तुम्हारी बात मानता है तो उसे बोलो ना उठने को अमायरा। देखो वह तेरी बात जरूर मानेगा तो प्लीज उसे बोलना और मुझे गले लगा कर रोने लगी। थोड़ी देर बाद ऑपरेशन थिएटर की लाइट्स ऑफ होती है और डॉक्टर बाहर आते हैं। हम सब भाग कर उनके पास गए और पूछा डॉक्टर चार्ल्स कैसा है??  तब उन्होंने हमारी तरफ देखा और कहा आई एम सॉरी हमने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की पर हम उन्हें नहीं बचा पाए।
 
 
डॉक्टर की बात सुनकर हमारी तो जैसे दुनिया ही बदल गई। हमने कभी सपने में भी नहीं सोचा था ऐसा होगा। चार्ल्स की मॉम का भी पूरा हाल हो रहा था मेरे पापा ने सब कुछ हैंडल किया। चार्ल्स को डिस्चार्ज करवा कर घर लेकर आए।  एक दिन एक दिन में मेरी पूरी जिंदगी बदल गई। जिस इंसान के बिना रहने का मैं एक पल नहीं सोच सकती थी अब मुझे पूरी जिंदगी उसके बिना बितानी पड़ेगी। ऐसा लग रहा था की चार्ल्स के साथ में भी चली जाऊं लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकती थी। अब मुझे अपने मां पापा के साथ चार्ल्स  की मामा का भी ध्यान रखना था। वह तो चला गया लेकिन अब उनकी जिम्मेदारी मेरी है। उनका अब हमारे सिवा कोई नहीं रहा था। मेरा गम बहुत था लेकिन उनके दुखों का कोई कंपटीशन नहीं था। उन्होंने एक पल में अपना सब कुछ खो दिया था और उनकी हालत मुझसे देखी नहीं जा रही थी वो बस चार्ल्स की बॉडी को देखे जा रही थी। उसके फ्यूनरल में ज्यादा लोग नहीं आए थे सिर्फ उसके रिलेटिव और मेरी फैमिली थी। किसी को यकीन नहीं हो रहा था जो चार्ल्स कुछ टाइम पहले तक हमारे साथ था अब वह इस दुनिया में नहीं है।
 
 
चार्ल्स के जाने के बाद मुझसे उस शहर में रहा नहीं जा रहा था इसलिए मैंने अपने पापा को मनाया और अपने करियर को आगे बढ़ाने के लिए दूसरे शहर चली गई। लेकिन एक बात थी चाहे चार्ल्स चला गया, चाहे मैं उस शहर से दूर चली गई लेकिन उसकी यादें आज भी मेरे साथ थी। आज इतने साल बीत गए चार्ल्स को गए हुए। पूरे 4 साल बाद में वापस अपने घर जा रही थी। पापा का फोन आया था उन्होंने बताया चार्ल्स की मॉम की तबीयत अब ठीक नहीं थी। मैं उस वक्त में उन्हें अकेला नहीं छोड़ना चाहती थी। चार्ल्स के जाने के बाद उनका अब कोई नहीं था इसलिए मैं वापस जा रही थी। मैंने अपनी जॉब भी छोड़ दि थी। पापा मामा आंटी सब मेरे वापस आने से बहुत खुश थे। कहीं ना कहीं उन लोगों लग रहा था उन्होंने चार्ल्स की तरह मुझे भी खो दिया था। इसमें उनकी कोई गलती नहीं थी मैं ही कायरों की तरह अपनी जिम्मेदारी छोड़कर भाग गई। स्वार्थी हो गई थी। सिर्फ अपना  दुख और दर्द दिखा, यह नहीं सोचा सिर्फ मेने ही चार्ल्स को नहीं खाया था उन्हें भी तो उसके जाने का उतना ही दुख था जितना मुझे और मैं देख नहीं पाई। लेकिन अब और नहीं। मैं अब अपनी जिम्मेदारी से नहीं भागूंगी। वापस जाकर अपनी फैमिली को संभालूंगी और चार्ल्स की मॉम को भी ठीक होने में मदद करूंगी।
 
 
कुछ ही दिन बाद में घर आ गई। मम्मा पापा मुझे देखकर अपने आंसू नहीं रोक पाए। उन्हें यकीन नहीं हो रहा था इतने सालों बाद उनकी बेटी वापस आ गई है। पापा ने मुझे प्यार से गले लगाया और कहा वह बहुत प्राउड फील कर रहे हैं मुझ पर। उन्हें यकीन नहीं हो रहा है उनकी बेटी आज इतनी बड़ी वकील बन गई है। मम्मा ने भी मुझे गले लगाया और कहा आज उन्होंने मेरी पसंद का खाना बनाया है।  कितने सालों बाद अपने मां पापा को देखकर मैं भी इमोशनल हो गई थी।  मैंने उनसे सॉरी कहा उन्होंने छोड़कर जाने के लिए। प्रॉमिस भी करा आज के बाद कभी उन्हें नहीं छोड़ कर जाऊंगी।  अगले दिन मैंने पापा से बात की और चार्ल्स के घर जाने का फैसला लिया।  पापा ने मुझे बताया वह हर फ्राइडे उनके घर जाते हैं ताकि उनके साथ वक्त बिता सके। पापा ने मुझे यह भी बताया चार्ल्स की मॉम डिप्रेस्ड है लेकिन वह डॉक्टर के पास जाने को तैयार ही नहीं है। तब मैंने उनसे कहा आप दोनों परेशान मत हो अब मैं वापस आ गई हूं। मैं उन्हें मना लूंगी ट्रीटमेंट के लिए।  फिर मैंने पापा से कहा आप प्लीज मुझे उनके घर ड्रॉप कर दीजिए मुझे उनसे मिलना है। फिर मैं और पापा उनके घर के लिए निकल गए।
 
 
पापा ने मुझे चार्ल्स को घर ड्रॉप किया और वह ऑफिस चले गए। मैं अभी उनके गार्डन में खड़ी थी। इतने साल बाद भी आज तक कुछ नहीं बदला था। वहां पर हर चीज आज भी वैसी ही थी जैसे चार्ल्स को पसंद थी। इतने वक्त बाद यहां आकर मुझे समझ नहीं आ रहा था खुद को कैसे संभालु। इस घर का हर एक कोने  में चार्ल्स की याद थी। सालों पहले जिस चीज से मैं भाग रही थी आज भगवान ने मुझे वही लाकर खड़ा कर दिया था। लेकिन अब मुझे खुद को संभालना होगा। आंटी के लिए अपने आप को स्ट्रांग बनाना होगा। यही सोचकर मेने अपने आंखों के आंसू पूछे और अंदर चली गई। लेकिन घर में जैसे कोई नहीं था पूरे घर जैसे शांत था। जैसे वहां कोई नहीं रहता। फिर मेरी नजर हाल में सोफे पर गई वहां आंटी बैठी थी और उनके हाथ में एक फोटो फ्रेम था। वह बड़े प्यार से उसे देख रही थी। जब मैं उनके पास गई तो मैंने देखा उस फ्रेम में चार्ल्स के साथ मेरी फोटो थी जिस पर आंटी बड़े प्यार से हाथ फिर रही थी। मुझे और बर्दाश्त नहीं हुआ मेने भाग कर उनको गले लगा लिया। वह एकदम से चौंक गई फिर मुझे गले लगा कर रोने लगी। उन्होंने कहा अमायरा मेरा बच्चा तुम आ गई। कितने सालों से इंतजार कर रही थी तेरा लेकिन तूने भी चार्ल्स की तरह मुझे अकेला छोड़ दिया। तू भी चली गई। मैंने सोचा था उसकी तरह तुझे भी मैं दोबारा कभी नहीं देख पाऊंगी लेकिन देखो तुम आ गई। अब मैं आराम से इस दुनिया से जा सकती हूं। अब तुझे देख लिया है तो और किसी प्रकार का गम नहीं है। उनकी बात सुनकर मुझे गिल्ट हुआ और खुद पर गुस्सा भी आया। मैंने उनसे कहा आई एम सॉरी आंटी मुझे माफ कर दीजिए। अपने गम में इतना डूब गई थी कि आपके दुख दर्द के बारे में सोचा ही नहीं। आई प्रॉमिस अब कभी आपको छोड़कर नहीं जाऊंगी। आप प्लीज मरने की बात मत कीजिए। चार्ल्स को खो दिया है लेकिन आपको नहीं खोना चाहती हूं। मैं उन्हें गले लगा कर रोती रही वह मुझे प्यार से चुप करवाती रही।
 
 
काफी देर तक हम दोनों वैसे ही बैठे रहे फिर मेने उन्हें कहा पापा ने मुझे बताया आपकी तबीयत ठीक नहीं है लेकिन आप ट्रीटमेंट करवाने को तैयार नहीं है। मेने उनका हाथ अपने हाथों में लिया और कहा आप ऐसा क्यों कर रही हो?  आपको पता है ना आप मेरे लिए मम्मा से कम नहीं है फिर आपको ऐसा क्यों लग रहा है आपके जाने से किसी को फर्क नहीं पड़ेगा?? आपको पता है अगर आपको कुछ हो गया तो मैं खुद को कभी माफ नहीं कर पाऊंगी। क्या आप यही चाहती हैं कि मैं जिंदगी भर इस गिल्ट में रहूं कि मैं आपके लिए कुछ नहीं कर पाई?? नहीं ना तो फिर अपना ट्रीटमेंट करवा लीजिए। अगर मेरे लिए ना तो चार्ल्स के लिए ही सही। आपको क्या लगता है आपकी ऐसी हालत देखकर वह खुश होगा?? तब उन्होंने मुझे बोला अगर मेरी अमायरा ऐसा चाहती है तो ऐसा ही होगा और फिर उन्होंने बोला चल मैं तेरे लिए कुछ अच्छा सा खाने के लिए बनाती हूं। आज इतने सालों बाद मेरी बेटी वापस आई है मुझे पता है तू घर से कुछ खाकर नहीं आई है। वह उठकर किचन में खाना बनाने के लिए जाने लगी। मैंने पीछे से आवाज लगाई और पूछा क्या मैं चार्ल्स के कमरे में जा सकती हूं ?? तब उन्होंने बोला बेटा उसमें पूछने की जरूरत नहीं है तुम जो चाहे कर सकती हो और फिर वहां से चली गई।
 
 
 मैं पिछले 10 मिनट से चार्ल्स के कमरे के बाहर खड़ी थी। यही सोच रही थी क्या इतनी हिम्मत है मुझ में की अंदर जा पाऊंगी?? फिर मैंने सोचा नहीं तुम्हें यह करना ही होगा और मैंने उसके कमरे का गेट ओपन किया और अंदर चली गई। उसका कमरा आज भी वैसा ही है जैसा वह पसंद करता था। में बेड पर जाकर बैठ गई और साइड में रखी फोटो उठाकर उसे इमोशनल होकर देखने लगी। आई एम सॉरी चार्ल्स मैंने वादा किया था तुम्हें कुछ नहीं होने दूंगी लेकिन मैं कामयाब नहीं हुई तुम्हें बचाने में। तुम्हें पता है मैंने उस आदमी को उसके किए की सजा दिलवा दी है। अब वह कभी तुम्हारी तरह और किसी की जिंदगी बर्बाद नहीं कर पाएगा। तुम हमेशा से चाहते थे ना कि तुम एक ऑर्फनेज खोलो उन बच्चों के लिए जिन्हें उनके मां बाप मरते हैं। देखना मैं बहुत जल्द तुम्हारा यह सपना पूरा करने वाली हूं। इन फैक्ट मैंने शुरुआत कर दी है। बस अब कुछ ही महीने में वह तैयार हो जाएगा चार्ल्स ऑर्फनेज। तुम भले ही अब इस दुनिया में नहीं हो लेकिन तुम्हारा नाम हमेशा रहेगा। फिर फोटो वापस रखतीं है और जाने  वाली थी तभी मेरी नजर एक एल्बम पर पड़ी। में उसे उठाकर देखने लगी एल्बम में सिर्फ मेरी और चार्ल्स की फोटो होती है। हमारी बचपन की सारी यादें उस एल्बम में होती है। लेकिन में जैसे ही एल्बम का आखिरी पेज खोलती हु में चौंक गई क्योंकि उसमें कोई फोटो नहीं होती बल्कि लिखा होता है चार्ल्स लव अमायरा। मुझे अपनी आंखों पर भरोसा नहीं हो रहा था कि चार्ल्स ने यह लिखा था। इसका मतलब चार्ल्स जिस लड़की को प्यार करता था जिसे प्रपोज करने वाला था वह और कोई नहीं बल्कि में थी!! इसलिए वह उस दिन मेरे आने की इतनी जिद  कर रहा था। फिर उस एल्बम को गले लगा कर रोने लगती है। आई लव यू टू चार्ल्स, काश में तुम्हें यह बता पाती मैं भी तुमसे प्यार करती हूं। आई मिस यू चार्ल्स, मिस यू सो मच, प्लीज मेरे पास वापस आ जाओ। वह बेड  पर बैठे हुए हो रही थी तभी उसे आंटी आवाज सुनाई दी वह जल्दी से अपने आंसू पहुंच कर उनके पास चली गई। फिर हमने काफी वक्त एक साथ बिताया और आंटी से मैंने यह प्रॉमिस पर लिया कि वह मेरे साथ हॉस्पिटल जाएगी ट्रीटमेंट के लिए। शाम को पापा मुझे लेने आ गए और मैं उनके साथ।
 
 
वक्त बीतता गया और मुझे वापस आए पूरा 1 साल हो गया। आज मैंने चार्ल्स का सपना भी पूरा कर दिया और आंटी भी ठीक हो गई। मैं अपने कमरे में गई और चार्ल्स की फोटो के सामने खड़ी हो गई और उसे बोला मेने  आज तुम्हारा सपना भी पूरा कर दिया। आई होप तुम यह देखकर खुश होंगे। तुम्हें पता है आज पूरे 5 साल बाद हमारी लाइफ में खुशी का दिन था। उसका कारण भी तुम ही हो चार्ल्स। आई लव यू चार्ल्स कल भी करती थी आज भी करती हूं और हमेशा करूंगी चार्ल्सचार्ल्स फिर वह फोटो पर नीचे लिखे हुए शब्द पर हाथ फेंरतीं है – चार्ल्स लव अमायरा और अमायरा लव चार्ल्स फॉरएवर और वहां से चली जाती है।
 
 
THE END

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *